Tuesday, September 27, 2022
HomeCITYलखनऊ में लग रहे जाम के पीछे है सुविधा शुल्क

लखनऊ में लग रहे जाम के पीछे है सुविधा शुल्क

ज़की भारतीया

लखनऊ, संवाददाता | लखनऊ का चारबाग हो या अमीनाबाद , कैसरबाग हो या नक्खास ,ठाकुरगंज हो या चौक हर स्थान पर जाम के कारण लोगों का चलना मुहाल हो चुका है | कई बार खबर लिखने के उपरांत एसपी ट्रैफिक और पुलिस विभाग के उच्च अधिकारियों का कहना था कि जाम की समस्या से जल्द ही निजात मिलने वाली है | पूर्व एसपी ट्रैफिक ने चारबाग की लिखी खबर पर कहा था कि चारबाग के मुख्य मार्ग तक प्लान जल्दी तैयार किया जा रहा है ,जिसके तहत मुख्य मार्ग पर सिर्फ चौपाइयां निजी वाहन ही आ जा सकेंगे | लेकिन उनको ये कहे हुए लगभग 1 वर्ष व्यतीत होने वाला है लेकिन जाम की समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है | यही नहीं ज्वाइंट कमिश्नर आफ पुलिस नवीन अरोड़ा ने चौक कोतवाली में अभी कुछ दिन पूर्व ही अपने मातहतों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान इसी जाम की समस्या को उठाते हुए अपने मातहतों को कड़े निर्देश दिए थे | उन्होंने कहा था कि आपके क्षेत्र में यदि जाम लगा तो आप जिम्मेदार होंगे | उन्होंने साफ शब्दों में कहा था कि सिपाही चंद पैसे लेकर चौराहो पर विक्रम और ई रिक्शा को खड़ा करवा कर जाम लगवा रहे हैं | उन्होंने कहा था कि यदि जाम की समस्या खत्म नहीं हुई तो जिम्मेदार पुलिस कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी लेकिन उनके मातहतों पर उनकी बातों का कोई असर नहीं हुआ | नक्खास से लेकर अमीनाबाद तक पहुंचने के लिए आपको एक घंटा लग जाएगा जबकि यूं देखा जाए तो रास्ता 10 मिनट का भी नहीं है |
यही हाल है मेडिकल कॉलेज चौराहे का जहां पर पुलिस के सामने ही ऑटो टेंपो वगैरह सवारी लेने के चक्कर में जाम लगा रहे हैं | लेकिन सूत्रों की माने तो यह जाम पुलिस की मर्जी से ही लग रहे हैं | यही हाल ठाकुरगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत बालागंज और दुबग्गा तिराहे का भी है, यहां का भी हाल ऐसा होता जा रहा है कि जैसा हाल नक्खास , मेडिकल कॉलेज, रकाबगंज और चारबाग का देखने को मिल रहा है | यदि ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस नवीन अरोड़ा ने अपने मातहतों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की तो इस जाम से निजात मिलना मुमकिन ही नहीं बल्कि नामुमकिन है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read