HomeArticleयूक्रेन-रूस युद्ध ने बढ़ाई भारत की मुश्किल, सिलेंडर के दामों में हुआ...

यूक्रेन-रूस युद्ध ने बढ़ाई भारत की मुश्किल, सिलेंडर के दामों में हुआ 105 रुपये का इजाफा

लखनऊ(अमित सक्सेना) यूक्रेन-रूस युद्ध में भले ही अभी यूक्रेन और रूस को बड़ी हानि का खामियाजा भुगतना पड़े लेकिन यह भी तय है कि चीन जैसे शक्तिशाली देश के रूस के साथ आ जाने के बाद यह युद्ध इसलिए विकराल रूप ले सकता है क्योंकि जहाँ कुछ देश यूक्रेन के साथ खड़े हो सकते हैं वही कई अन्य देशरूस का साथ निभाने के लिए तैयार हो सकते हैं । अभी चंद दिनों के हुए इस युद्ध में जहां भारत सहित अन्य देशों में महंगाई की स्थिति चरम सीमा पर पहुंच रही है ,तो वही अन्य देशों के इस युद्ध में शामिल होने के कारण महंगाई लोगों की कमर तोड़ देगी। अभी लगभग 1 सप्ताह से जारी इस युद्ध के बाद डीजल,पेट्रोल और रसोई गैस के दाम आसमान छूने लगे हैं तो स्थिति अधिक खराब होने के कारण महंगाई कहां पहुंचेगी इसका शायद अभी अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है।
यह युद्ध यूक्रेन टाल भी सकता था लेकिन अमेरिका की गोद में पल रहे यूक्रेन अमेरिका के इशारे पर युद्ध जैसी बचकाना हरकत कर बैठा है। रूस सिर्फ यह चाहता था कि यूक्रेन नाटो में शामिल ना हो इसीलिए अभी कल की हुई वार्ता में रूस के प्रतिनिधियों ने यूक्रेन के प्रतिनिधियों से युद्ध विराम किए जाने पर यही एक शर्त फिर लगाई है , यूक्रेन इस बात का आश्वासन दे कि वह नाटो की गोद में नहीं बैठेगा लेकिन युक्रेन इस छोटी सी बात को मानने को तैयार नहीं है। लिहाजा इसका परिणाम अच्छा निकलने वाला नहीं दिखाई दे रहा है ।
युद्ध के बीच पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों के बीच 1 मार्च को एलपीजी सिलेंडर के नए रेट जारी हो गए । सिलेंडर के रेट में 105 रुपये का बड़ा इजाफा हुआ है। यह इजाफा व्ययवसायक सिलेंडर में किया गया है।

दिल्ली में आज मंगलवार से 19 किलो के कमर्शियल सिलेंडर की कीमत 2,012 रुपये हो गई है। वहीं 5 किलो के सिलेंडर की कीमत में भी 27 रुपये का इजाफा हुआ है। अब दिल्ली में 5 किलो वाले सिलेंडर की कीमत 569 रुपये होगी।

घरेलू गैस सिलेन्डर वालों को है अभी राहत

कच्चे तेल की कीमतें 102 डॉलर प्रति बैरल के पार चली गई हैं जिस कारण कमर्शियल सिलेंडर की कीमतों में अच्छा-खासा उछाल आया है। बताते चलें दें कि अक्टूबर 2021 से एक फरवरी 2022 के बीच कामर्शियल सिलेंडर के दाम 170 रुपये बढ़े हैं। 6 अक्टूबर 2021 के बाद से घरेलू एलपीजी सिलेंडर न तो सस्ता हुआ है और न ही महंगा। मतलब साफ है कि घरेलू सिलेंडर के दाम में फिलहाल कोई बदलाव नहीं हुआ है।

मासिक रूप से होता है एलपीजी सिलेंडर के दाम में संशोधित

देश में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए एलपीजी सिलेंडर के दाम मासिक रूप से संशोधित किए जाते हैं। इससे पहले नेशनल ऑयल डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों ने 1 फरवरी को 19 किलोग्राम के कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 91.50 रुपये की कटौती की थी।

कामर्शियल सिलेंडरों के दामों में 105 रुपये का इज़ाफ़ा

इस बार भी कमर्शियल सिलेंडर के दाम में बढोतरी की गई है।19 किलो वाला एलपीजी सिलेंडर 1 मार्च यानी आज से अब दिल्ली में 1907 रुपये के बजाय 2012 रुपये में मिलेगा। कोलकाता में इसकी क़ीमत 1987 रुपये के बजाय 2095 जबकि मुंबई में इसकी क़ीमत 1857 से बढ़कर 1963 रुपये हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read