Home INDIA देश में दो दिनों से कोरोना वायरस का पारा स्थिर, 24...

देश में दो दिनों से कोरोना वायरस का पारा स्थिर, 24 घंटों में 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना का एक भी नया मामला नहीं

24 घंटों में 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना का एक भी नया मामला नहीं

लखनऊ संवाददाता । अभी तक चल रहे कोरोना वायरस के प्रकोप ने देश के नागरिकों और राज्यों सहित केंद्र सरकार की नींदें हराम कर दी थीं लेकिन आज देशवासियों के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है । ये अच्छी जानकारी आज स्वंय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीडीसी) पर कोरोना जांच के लिए कोबास-6800 मशीन का लोकार्पण करते समय दी है । उन्होंने कहा , कोरोना संक्रमण की चपेट में आने वालों की रफ्तार लगातार धीमी होती जा रही है। अब 13.9 दिन में संक्रमण के मामले दोगुने हो रहे हैं। यह दर पिछले तीन दिन से अपनी जगह पर स्थिर है।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि पिछले 24 घंटों में 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। इनमें गुजरात, तेलंगाना झारखंड, आंध्र प्रदेश, अंडमान व निकोबार द्वीप, गोवा, सिक्किम, चंडीगढ़, मेघालय, मिजोरम शामिल हैं।

यही नहीं उन्होंने ये भी कहा कि पिछले तीन दिनों से कोरोना संक्रमण से दोगुने होने की दर 13.9 दिन पर ठहरी हुई है। जबकि पिछले 14 दिनों में यह दर 11.1 दिन पर कायम रही। उन्होंने कोरोना जांच के क्षेत्र में मिली सफलता का उल्लेख करते हुए कहा कि अब हमारी क्षमता प्रतिदिन एक लाख लोगों की जांच करने की है उन्होंने कहा कि हमने अब तक 20 लाख से अधिक लोगों की जांच का रिकार्ड बना लिया है। इस समय देश में 500 से अधिक लैब में कोरोना की जांच हो रही है। 359 सरकारी और 145 निजी प्रयोगशालाओं में नमूनों की जांच का काम लगातार जारी है।
उन्होंने कहा कि कोरोना की जांच करने वाली कोबास-6800 अत्याधुनिक मशीन है। एक मशीन से 24 घंटे में 1200 नमूनों की जांच की जा सकती है। इस मशीन से जांच के काम में काफी आसानी होगी। इस मशीन के रोबोटिक होने की वजह से जांच के दौरान किसी कर्मचारी के संक्रमित होने का खतरा नहीं रहेगा । हालांकि उन्होंने साफ़ तौर से कहा कि इस मशीन के लिए सुरक्षा के नियम बहुत कड़े हैं। इसको बायोसेफ्टी लेवल 2 की लैब में ही स्थापित किया जा सकता है।
ये बात अत्यंत प्रसन्ता की है कि कोबास-6800 अत्याधुनिक मशीन के कारण हमारे देश के डॉक्टर्स कोरोना वायरस से सुरक्षित भी रहेंगे और संक्रमित लोगों की जाँच भी आसानी से हो जाएगी । कोरोना वायरस पर अंकुश अगने के लिए आवश्यक भी ये है कि जो संक्रमित नहीं ही लग रहे हों उनके घरों तक पहुंचकर या उन्हें अस्पताल में लाकर जाँच ज़रूर की जाए जिससे कोई भी कोरोना मरीज़ बचा न रह जाए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

तुराज ज़ैदी का हुआ जरवल में भव्य स्वागत

लखनऊ, संवाददाता।भारतीय जनता पार्टी के प्रचार प्रसार के लिए निरन्तर मुसलमानों से निकटता बनाए रखने के लिए प्रयासरत फखरुद्दीन अली अहमद मेमोरियल कमेटी उत्तर...

एन एस लाइव न्यूज़ ने किया भंडारे का आयोजन,ग़ैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों के हितों पर 26 जून को होगी बैठक

लखनऊ, संवाददाता ।एन एस लाइव न्यूज़ चैनल द्वारा आज बालागंज में स्थित परफेक्ट टावर के बाहर आखिरी बड़े मंगल के अवसर पर विशाल भंडारे...

भारत निर्वाचन आयोग ने निर्धारित की राष्ट्रपति चुनाव की तिथ

भारत के 15वें राष्ट्रपति का चुनाव 18 जुलाई को लखनऊ, संवाददाता। देश के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई, 2022 को समाप्त हो...

ये ड्राई फ्रूट्स दिलवाते हैं बैड कोलोस्ट्राल से नजात

ज़की भारतिया सिर्फ इन्सान के बदलते हुए रहन सहन और गलत खानपान के कारण ही नहीं बल्कि बाज़ार में आ रही खाने पीने की मिलावटी...

पूर्व सीएजी विनोद राय की माफी से साफ हो गया कि उन्होंने अपनी 2 जी स्पेक्ट्रम व कोल रिपोर्ट में झूठ बोलकर मनमोहन सरकार...

  लखनऊ ,संवाददाता। पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट ने आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता में पूर्व सीएजी...