HomeWORLDदुनिया भर में हर 33 घंटे में 10 लाख लोग हो जाएंगे...

दुनिया भर में हर 33 घंटे में 10 लाख लोग हो जाएंगे गरीब

लखनऊ, संवाददाता। कोरोना महामारी के दौरान हर 30 घंटे में जहाँ एक नए अरबपति को उभरते हुए देखा गया है तो वहीं उम्मीद जताई जा रही है कि दुनिया भर में हर 33 घंटे में 10 लाख लोग गरीब हो जाएंगे।
ये बात आज विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक यानी दावोस शिखर सम्मेलन के आयोजन के दौरान कही गई है।
इस सम्मेलन में जहाँ विश्व भर के चिंहित रईस लोगों ने शिरकत की तो वहीं कई शक्तिशाली देश भी उपस्थित हुए।
इस मामले पर ऑक्सफैम ने कहा कि अब वह समय आ गया है जब कम भाग्‍यशाली लोगों का समर्थन करने के लिए अमीरों पर टैक्‍स लगाना चाहिए।
ऑक्सफैम की कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने अपने एक बयान में कहा कि अरबपति और अच्छी किस्मत वाले अविश्वसनीय उछाल का जश्न मनाने के लिए दावोस पहुंच रहे हैं।
ऑक्सफैम इंटरनेशनल के कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने कहा कि महामारी और अब ऊर्जा व भोजन की बढ़ती कीमते सीधे तौर पर अमीरों के लिए वरदान बन गई है। इसके साथ ही आगे गैब्रिएला बुचर ने कहा लाखों लोग केवल जीवित रहने के लिए लागत में असंभव वृद्धि का सामना कर रहे हैं। गैब्रिएला बुचर के अनुसार निजीकरण के परिणामस्वरूप दुनिया की संपत्ति में अमीरो ने एक चौंकाने वाली राशि पर कब्जा किया है। सुपर रिच लोग दशकों से सिस्टम में धांधली कर उसका लाभ उठा रहे हैं, जो सभी सरकारों की मिलीभगत से हो रहा है।

एक मिनट में भूख से मर रहा है एक व्यक्ति

ऑक्सफैम के अनुसार पूर्वी अफ्रीका में हर एक मिनट एक व्यक्ति भूख से मर रहा है। ये बहुत बड़ी असमानता है जो मानवता के बंधनों को तोड़ रही है। ये असमानता लोगों को मार देगी। इसके साथ ही मजदूरी करने वालों के सामने मुश्किले बढ़ी है और अब कोरोना के बाद श्रमिक दशकों की उच्च कीमतों के साथ संघर्ष कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read