HomeCITYजानिए ,दुनिया भर में पढ़ा जाने वाला ये नौहा किसने कहा था?

जानिए ,दुनिया भर में पढ़ा जाने वाला ये नौहा किसने कहा था?


लखनऊ, संवाददाता । फखरुद्दीन अली अहमद मेमोरियल सोसाइटी के अध्यक्ष पद को संभालने के बाद से ही तूरज ज़ैदी निरंतर उर्दू,अरबी और फ़ारसी ज़बान का सहयोग करने वालों को जहाँ सम्मान से नवाज़ते हुए नज़र आ रहे हैं वहीं वो उन प्रसिद्ध कवियों की मज़ारों पर भी जाते नज़र आ रहे हैं जिन्होंने उर्दू,अरबी या फ़ारसी भाषा में योगदान दिया था।
इसी क्रम में तूरज ज़ैदी आज सुबह 11 बजे पुराने लखनऊ के नक्खास क्षेत्र में स्थित एक ऐसे मज़ार पर दर्शन के लिए पहुचे जहां लोगों का आना जाना ही नहीं हैं। हालांकि ये मज़ार टेहड़ी क़ब्र के नाम से जानी जाती है ,लेकिन पतली सी गली के पास स्थित ये मज़ार अपनी पहचान से अनजान वर्षों से अपनी गाथा बयान करने की शायद कोशिश में थी। लेकिन आज इस मज़ार पर फखरुद्दीन अली अहमद मेमोरियल सोसायटी के अध्यक्ष तूरज ज़ैदी नें पहुँचकर इस मज़ार की पहचान करवा दी।
सुबह 11 बजे तूरज ज़ैदी अपनी कमेटी के सदस्य सिद्दीकी और अन्य साथियों सहित मज़ार के पास पहुचे और मज़ार पर फूलों और चादर को चढ़ाकर फ़ातेहा पढ़ा।
उन्होंने दिए अपने बयान में कहा,इनका नाम झुन्नू लाल दिलगीर था जो मीर अनीस से भी पहले इस संसार में आए थे। उन्होंने बताया कि इनका एक नौहा “घबरायेगी ज़ैनब” पूरे संसार में शिया समुदाय कर्बला वालों की याद में पढ़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read