Home INDIA उ०प्र० सरकार की एक जनपद एक उत्पाद योजना साबित होगी मील का...

उ०प्र० सरकार की एक जनपद एक उत्पाद योजना साबित होगी मील का पत्थर: राष्ट्रपति

लखनऊ (सवांददाता) लखनऊ के इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान में आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द जहाँ वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट की तीन दिवसीय समिट के उद्घाटन के बाद कॉफी टेबल बुक का विमोचन करने के साथ ही ऋण वितरण करने के लिए लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर प्रातः 9:30 बजे आये, वहीँ उनका लखनऊ आगमन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा अन्य मंत्रिमंडल के सदस्यों ने ज़ोरदार स्वागत किया| राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एयरपोर्ट से सीधे गवर्नर हॉउस पहुंचे जहाँ उन्होंने विश्राम किया और ख़ास लोगो से मुलाकात की| जिसके बाद वो इंदिरा गांघी प्रतिष्ठान रवाना हो गए|

राष्ट्रपति ने इस अवसर पर मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार की एक जनपद एक उत्पाद योजना मील का पत्थर साबित होगी। मुझे आशा है कि इस योजना से युवाओं के लिए बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा होंगे। इस योजना का लाभ उठाने को युवाओं को तैयार रहना होगा। राष्ट्रपति ने कहा कि मेरे संज्ञान में आया है कि ‘एक जनपद एक उत्पाद’ योजना से पांच वर्ष में 25,000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता के माध्यम से 25 लाख लोगों को रोजगार दिलाने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि देश में लघु तथा मध्यम उद्योग भारत के लिए कारगर साबित होंगे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के उत्पादों की ब्रांडिंग जरूरी है। उत्तर प्रदेश के विकास के बगैर भारत का विकास संभव नहीं हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश वन ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी का लक्ष्य हासिल कर सकता है। उत्तर प्रदेश के उत्पादों की ब्रांडिंग के लिए राष्ट्रपति ने दो सुझाव भी दिए। राष्ट्रपति ने कहा कि मुझे भरोसा है कि ओडीओपी योजना छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों तक उद्यमों के लिए सहायक परिस्थितियां उत्पन्न करेगी। भारत में छोटे तथा मध्यम उद्यमों को अर्थ-व्यवस्था का मेरुदंड कहा जाता है। यह सभी उद्यम समावेशी विकास के इंजन हैं। कृषि क्षेत्र के बाद सबसे अधिक लोग इन्ही उद्यमों में रोजगार पाते हैं। देश के सर्वाधिक उद्यम उत्तर प्रदेश में हैं। उन्होंने देश के कुछ बड़े महानगरों में उत्पादों की प्रदर्शनी लगाने और इलाहाबाद में 2019 में होनेवाले कुंभ में हर जिले के उत्पादों की प्रदर्शनी लगाने के सुझाव दिए। देश में कुल हस्त-शिल्प निर्यात में उत्तर प्रदेश का योगदान 44 प्रतिशत है। उत्तर प्रदेश के विकास में इन उद्यमों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

उत्तर प्रदेश में ताजमहल है, कई नदियाँ हैं, सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है ऐसी कई चीजें उत्तर प्रदेश में है जो प्रदेश को सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बना सकता है।उत्तर प्रदेश से चुनाव जो लड़ता है उसे प्रधानमंत्री बनने का मौका मिलता है, ऐसी है उत्तर प्रदेश की धरती, उत्तर प्रदेश प्रतिभा वाला प्रदेश है। यह देख मुझे अटल जी की याद आई, वो कहते थे कि उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश है, जो इसकी खोज कर लेगा उसे पता चलेगा की उत्तर प्रदेश कितना संभावनाओ से भरा है। आज जब मैं प्रदर्शनी को देखने गया, तो वहाँ 20 साल के अनुभवी उद्यमियों से बात की, बुंदेलखंड के बाँदा की केन नदी के पत्थर की छवि देखते ही बनती है।

राष्ट्रपति ने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में उनके असाधारण योगदान के लिए, देश के सर्वोच्च अलंकरण ‘भारत-रत्न’ से सम्मानित, कुल 45 विभूतियों में से, 11 भारत-रत्नों की जन्म-स्थली या कर्म-स्थली उत्तर प्रदेश में है। यह उत्तर प्रदेश के निवासियों के लिए गर्व की बात है। मैं भी उत्तर प्रदेश का निवासी हूं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश से किसी भी तरह से प्रतिभा पलायन रोकना हमारी प्राथमिकता में शामिल है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कम समय में बेहतर परिणाम हर क्षेत्र में लेकर आना है, इसके लिए आवश्यक था कि युवाओं को पलायन से रोका जाए। युवाओं के लिए रोजगार व स्वावलंबन के कार्यक्रम स्थापित हों।

एक जनपद-एक उत्पाद योजना को इसी सोच के साथ लाया गया। उत्तर प्रदेश अपनी परंपरागत छवि से उबरकर अपने उद्यम व पुरुषार्थ के माध्यम से देश में एक नई पहचान हासिल करेगा।22 करोड़ की आबादी को स्वावलंबन की ओर अग्रसर करना हम सबके लिए चुनौती थी। जब हमने मार्च, 2017 में कार्य आरंभ किया तो उस वक्त उत्तर प्रदेश की क्या स्थिति थी, इस बारे में बोलने की आवश्यकता नहीं। एक जनपद-एक उत्पाद येजना के तहत स्टार्टअप के लिए 250 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई। पहली बार एक साथ 75 जनपदों में लाभार्थियों को 1006 करोड़ रुपये के वित्तपोषण की व्यवस्था की जा रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश अपनी परंपरागत छवि से उबरकर अपने उद्यम व पुरुषार्थ के माध्यम से देश में एक नई पहचान हासिल करेगा। एक जनपद-एक उत्पाद की कॉफी टेबल बुक का अनावरण हुआ है। इसमें विस्तृत रूप से योजना के बारे में प्रकाश डाला गया है। इस योजना के माध्यम से हर वर्ष 5 लाख नौजवानों को रोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। युवा अपने घर, अपने गांव, अपने जनपद और अपने प्रदेश में रोजगार पाएं। हमें विश्वास है कि पलायन रुकेगा और प्रतिभा का प्रयोग प्रदेश में ही होगा। विभिन्न जनपदों के उत्पादों की मार्केटिंग व ब्रांडिंग की दिशा में भी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं।

मख्यमंत्री आदित्यनाथ के सम्बोधन से पूर्व राष्ट्रपति ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में इससे संबंधित प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग की ओर से आयोजित प्रथम ‘एक जनपद-एक उत्पाद’ (ओडीओपी) समिट का भी शुभारंभ किया। बताते चले कि इसकी नींव 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश दिवस के अवसर पर उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने रखी थी। राष्ट्रपति ने राज्यपाल राम नाईक, सीएम योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा व केशव प्रसाद मौर्य की मौजूदगी में दीप प्रज्जवलित कर ओडीओपी समिट का उद्घाटन किया।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जहाँ एक जनपद-एक उत्पाद की कॉफी टेबल बुक का विमोचन किया वहीं वेबसाइट का शुभारंभ भी किया।
इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में इस दौरान अमेजन, क्वालिटी कंट्रोल ऑफ इंडिया, एनएसई, बीएससी और जीई हेल्थकेयर के प्रतिनिधियों व राज्य सरकार के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर भी हुए।

सरकार ने हर साल एक लाख लोगों को ओडीओपी योजना से जोडऩे का लक्ष्य निर्धारित किया है। यूपी पहला ऐसा प्रदेश है, जो ओडीओपी के माध्यम से लोगों को उनके घर में ही रोजगार उपलब्ध कराने के लिए परंपरागत कुटीर उद्योगों को बढ़ावा दे रहा है। प्रदेश में इस समय 8900 करोड़ रुपए का ही निर्यात होता है, जिसे बढ़ाकर दो लाख करोड़ करने का लक्ष्य रखा गया है।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में राष्ट्रपति रामानथ कोविंद ने सबसे पहले प्रदेश के सभी 75 जिलों से सम्बंधित प्रमुख उत्पादों की प्रदर्शनी को देखा। इस दौरान वहां मौजूद उद्यमियों से बातचीत भी की।

दीप प्रज्जवलन के बाद राष्ट्रपति ने लाभार्थियों को ऋण पात्र और टूल किट भी वितरित किये । 9:30 बजे एयरपोर्ट पर उतरने के बाद वह सीधे राजभवन गए। वहां पर करीब एक घंटा आराम करने के बाद ओडीओपी समिट का उद्घाटन करने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान पहुंचे।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

तुराज ज़ैदी का हुआ जरवल में भव्य स्वागत

लखनऊ, संवाददाता।भारतीय जनता पार्टी के प्रचार प्रसार के लिए निरन्तर मुसलमानों से निकटता बनाए रखने के लिए प्रयासरत फखरुद्दीन अली अहमद मेमोरियल कमेटी उत्तर...

एन एस लाइव न्यूज़ ने किया भंडारे का आयोजन,ग़ैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों के हितों पर 26 जून को होगी बैठक

लखनऊ, संवाददाता ।एन एस लाइव न्यूज़ चैनल द्वारा आज बालागंज में स्थित परफेक्ट टावर के बाहर आखिरी बड़े मंगल के अवसर पर विशाल भंडारे...

भारत निर्वाचन आयोग ने निर्धारित की राष्ट्रपति चुनाव की तिथ

भारत के 15वें राष्ट्रपति का चुनाव 18 जुलाई को लखनऊ, संवाददाता। देश के 14वें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई, 2022 को समाप्त हो...

ये ड्राई फ्रूट्स दिलवाते हैं बैड कोलोस्ट्राल से नजात

ज़की भारतिया सिर्फ इन्सान के बदलते हुए रहन सहन और गलत खानपान के कारण ही नहीं बल्कि बाज़ार में आ रही खाने पीने की मिलावटी...

पूर्व सीएजी विनोद राय की माफी से साफ हो गया कि उन्होंने अपनी 2 जी स्पेक्ट्रम व कोल रिपोर्ट में झूठ बोलकर मनमोहन सरकार...

  लखनऊ ,संवाददाता। पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सचिन पायलट ने आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर आयोजित पत्रकार वार्ता में पूर्व सीएजी...