HomePOLITICSआरएसएस की मुस्लिम विंग मुस्लिम राष्ट्रीय मंच से दिया हसन कौसर ने...

आरएसएस की मुस्लिम विंग मुस्लिम राष्ट्रीय मंच से दिया हसन कौसर ने इस्तीफा

वसीम रिज़वी पर होना चाहिए सख़्त कार्रवाई: हसनकौसर

लखनऊ, संवाददाता। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुस्लिम विंग मुस्लिम राष्ट्रीय मंच को उत्तर प्रदेश में नया जीवन दान देने वाले समाजसेवी हसन कौसर रिजवी ने आज बालागंज चौराहे पर स्थित परफेक्ट टावर में सांय 5 बजे आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने पत्रकार वार्ता में कहा की समाज से बेरोजगारी ख़त्म करने , बीमारों का इलाज कराने, बच्चों की शिक्षा, गरीबों को राशन आदि जैसी समस्याओं के लिए उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दिया है। उन्होंने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि मैं बाकी जीवन समाज के लिए समर्पित कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि उनके जीवन का उद्देश्य समाज को समस्याओं से मुक्त कराना है । इसलिए वह अपनी खुशी के लिए ईद जैसे त्यौहार भी नहीं मनाएंगे। इन त्योहारों में वह समाज को खुशी बांटने का प्रयास करेंगे , समाज की समस्याओं के समाधान के लिए ज्यादा से ज्यादा समय देने के लिए अपने संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के पद से इस्तीफा दिया है । उनके अनुसार देश के प्रधानमंत्री द्वारा समाज के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी देशवासियों को उपलब्ध कराना आवश्यक है। सैयद हसन कौसर सभी समस्याओं से समाज को मुक्त कराने के लिए क्षेत्रीय पार्षदों व प्रधान आदि के माध्यम से क्षेत्रीय लोगों की सूची प्राप्त करके समाज को सुविधाएं उपलब्ध कराने का कार्य करेंगे। जिस प्रकार अब तक उन्होंने पार्षदों के सहयोग से सभी धर्म की लगभग 200 बच्चियों की शादी में सहयोग किया है व अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई है। सैयद हसन कौसर का मानना है कि मुस्लिम समाज के इतने पीछे रह जाने का कारण शिक्षित ना होना और सरकारी योजनाओं की जानकारी ना होना है । यह भी सत्य है कि जब किसी परिवार में अचानक कोई समस्या ,बीमारी आती है तो समाज के लोगों की समझ में नहीं आता है कि किस से सहायता मांगी जाए । ऐसी सभी समस्याओं से निपटने के लिए परफेक्ट वेलफेयर सोसाइटी द्वारा व्यवस्था की जा रही है । शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के सदस्य बनाए जाने और हटाए जाने के पूछे गए प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी और शिया धर्मगुरु कल्बे जव्वाद नक़वी का धन्यवाद अदा करते हैं कि जिनकी वजह से मैं शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के सदस्य पद से हटा दिया गया ।और इस तरह से मुझे निजात मिल गई। उन्होंने आखिर में अपने एक शेर जीना था जितना जी चुका मैं अपने वास्ते।
अब जिंदगी यह आपकी खातिर जियूँगा मैं।। सुना कर प्रेस कॉन्फ्रेंस का को खत्म किया। उनसे पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि यह सच है की राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के इंद्रेश कुमार शिया धर्मगुरु कल्बे जव्वाद साहब आगे शिया वक्फ बोर्ड प्रकरण में हल्के रहे । हालांकि उनके इस्तीफे के पीछे कहीं ना कहीं शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के सदस्य पद दिए जाने और उसके बाद उसी पद को वापस ले लिए जाने के कारण नाराजगी भी शामिल है । यह बात अलग है कि उन्होंने अपनी जबान से आज की प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बात नहीं मानी है । बताते चलें कि हसन कौसर को मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के सरपरस्त डॉक्टर इंद्रेश कुमार ने स्वयं समाजसेवी होने के कारण उनका नाम शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के सदस्य पद हेतु दिया था। जिनके नाम की मंजूरी भी हो गई थी ।लेकिन इस मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिया धर्मगुरु कल्बे जव्वाद नक्वी की बात मानते हुए हसन कौसर का नाम जहां वापस करा दिया था वही डॉ इंद्रेश कुमार की कोशिश के बावजूद उनका नाम नहीं शामिल हो सका था। इससे प्रतीत होता है कि हसन कौसर रिजवी ने थोड़ा संयम बरतने के बाद आज मुस्लिम राष्ट्रीय मंच से इस्तीफा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read